मध्यप्रदेश के प्रमुख अभयारण्य(Chief Sanctuary of Madhya Pradesh) - GK Study

Breaking

मध्यप्रदेश के प्रमुख अभयारण्य(Chief Sanctuary of Madhya Pradesh)

मध्य प्रदेश के महत्वपूर्ण तथा प्रमुख अभ्यारण

बोरी बोरी अभ्यारण होशंगाबाद जिले में स्थित है इसका क्षेत्रफल 485.340 वर्ग किलोमीटर है इस में शेर , तेंदुआ , सांभर , चीतल , गौर , हिरण , जंगली सूअर आदि वन्य प्राणी पाए जाते हैं
फैनहिना अभ्यारण मंडला जिले में स्थित है इसका क्षेत्रफल 110.74 वर्ग किलोमीटर है इसमें तेंदुआ , शेर , चीतल , सांभर वन्यप्राणी मुख्यता पाए जाते हैं
करेरा करेराकरेरा अभ्यारण शिवपुरी जिले में स्थित है इसका क्षेत्रफल 210.210 वर्ग किलोमीटर है इसमें सांभर , चीतल , नीलगाय , सुनहरी चिड़िया आदि वन्य प्राणी पाए जाते हैं
केन घड़ियाल अभयारण्ययह अभ्यारण छतरपुर/पन्ना जिले में है इसका क्षेत्रफल 45.201 वर्ग किलोमीटर है इसमें मुख्यता घड़ियाल तथा मगरमच्छ पाए जाते हैं
नरसिंहगढ़यह राजगढ़ जिले में स्थित है इसका क्षेत्रफल 57.190 वर्ग किलोमीटर है इसमें मुख्यता तेंदुआ , सांभर , चीतल , जंगली सूअर , मोर आदि वन्य प्राणी पाए जाते हैं
नौरादेहीनौरादेही अभ्यारण सागर/दमोह/ नरसिंहपुर जिले में स्थित है इसका क्षेत्रफल 1194.670 वर्ग किलोमीटर इसमें शेर , तेंदुआ , चीतल , सांभर , नीलगाय , जंगली सूअर , कुत्ता आदि वन्य प्राणी पाए जाते  है
पचमढ़ी पचमढ़ी पचमढ़ी होशंगाबाद में स्थित है इसका क्षेत्रफल 415.904 वर्ग किलोमीटर है इसमें शेर , तेंदुआ , सांभर , चीतल , गौर , नीलगाय , हिरण , चिंकारा आदि वन्य प्राणी पाए जाते हैं
कूनो पालपुरयह अभ्यारण मुरैना जिले में स्थित है इसका क्षेत्रफल 344.680 वर्ग किलोमीटर है इसमें शेर , तेंदुआ , चीतल , सांभर , नीलगाय , चिंकारा मुख्यता पाए जाते हैं
रातापानी रायसेन/सीहोर जिले में है इसका क्षेत्रफल 689.46 वर्ग किलोमीटर है इसमें शेर , सांभर , तेंदुआ , चीतल , नीलगाय पाए जाते हैं
सिंधौरी सिंधौरी रायसेन जिले में स्थित है इसका क्षेत्रफल 287.910 वर्ग किलोमीटर है इसमें मुख्यता तेंदुआ , शेर , सांभर , चीतल , नीलगाय वन्य प्राणी पाए जाते हैं
सरदारपुर (खरमोर)यह अभ्यारण धार जिले में स्थित है इसका क्षेत्रफल 348.121 वर्ग किलोमीटर है इसमें मुख्यता चिड़ियां , तथा फूल के लिए प्रसिद्ध है
रालामंडल यह इंदौर जिले में स्थित है इसका क्षेत्रफल 2.340 वर्ग किलोमीटर है इसमें मुख्यता बाघ , तेंदुआ , चीतल , सांभर , बाघ और भालू आदि वन्य प्राणी पाए जाते हैं
बगदरायह अभ्यारण सीधी जिले में स्थित है इसका क्षेत्रफल 478.000 वर्ग किलोमीटर है इस अभ्यारण में मुख्यता तेंदुआ , चीतल , सांभर , नीलगाय पाए जाते हैं
घाटीगांव ग्वालियर जिले में स्थित है इसका क्षेत्रफल 512.0 वर्ग किलोमीटर है इसमें मुख्यता चिंकारा , सांभर , नीलगाय , सुनहरी चिड़िया के लिए प्रसिद्ध है
गांधीसागर यह मंदसौर/नीमच में स्थित है इसका क्षेत्रफल 368.620 वर्ग किलोमीटर है इसमें मुख्यता तेंदुआ , चीतल , चिंकारा , नीलगाय तथा जल पक्षी पाए जाते हैं
राष्ट्रीय चंबल घड़ियालयह मुरैना जिले में स्थित है और इसका क्षेत्रफल 320 वर्ग किलोमीटर है
 पनपठा उमरिया जिले में स्थित है तथा इसका क्षेत्रफल 245.842 वर्ग किलोमीटर है इसमें मुख्यता शेर , तेंदुआ , चीतल , सांभर , नीलगाय , चौसिंगा , हिरण आदि पाए जाते हैं


पेंच (इंदिरा प्रियदर्शिनी राष्ट्रीय उद्यान)यह सिवनी /छिंदवाड़ा में स्थित है तथा इसका क्षेत्रफल 118.473 वर्ग किलोमीटर है इसमें मुख्यता शेर , तेंदुआ , सांभर , चीतल , गौर पाए जाते हैं
संजय डूबरीयह अभ्यारण सीधी जिले में स्थित है तथा इसका क्षेत्रफल 364.693 वर्ग किलोमीटर है इसमें शेर , तेंदुआ , चीतल , नीलगाय , सांभर , चिंकारा मुख्यता पाए जाते हैं
सोन घड़ियाल अभयारण्ययह सीधी शहडोल में स्थित है तथा इसका क्षेत्रफल 41.80 वर्ग किलोमीटर है इसमें मुख्यता घड़ियाल , मगरमच्छ , कछुआ , प्रवासी पक्षी पाए जाते हैं
सैलानासैलाना रतलाम जिले में स्थित है तथा इसका क्षेत्रफल 12.965 वर्ग किलोमीटर है और यह चिड़िया तथा फूल के लिए प्रसिद्ध है
ओरछा यह टीकमगढ़ जिले में स्थित है और इसका क्षेत्रफल 44.910 वर्ग किलोमीटर है इस में मुख्यता तेंदुआ , जंगली सूअर , सांभर , चीतल , चिंकारा , आदि वन्य प्राणी पाए जाते हैं
 गंगऊगंगऊ पन्ना जिले में स्थित अभ्यारण है इसका क्षेत्रफल 68.140 वर्ग किलोमीटर है इस में मुख्यता तेंदुआ , जंगली सूअर , सांभर , चीतल , नीलगाय , चिंकारा वन्य प्राणी पाए जाते हैं
कालीभीतयह अभ्यारण बैतूल जिले में प्रस्तावित है
सुरमेनियायह अभ्यारण खंडवा जिले में प्रस्तावित है और इसका क्षेत्रफल 178.21 वर्ग किलोमीटर है
दुर्गावती यह अभ्यारण जबलपुर जिले में स्थित है और उसका क्षेत्रफल 23.970 वर्ग किलोमीटर है
मांधातायह अभ्यारण खंडवा जिले में प्रस्तावित है और इसका क्षेत्रफल 69.24 वर्ग किलोमीटर है
कामधेनु गौ अभ्यारण यह शाजापुर जिले में स्थित है और इसका क्षेत्रफल 472.63 हेक्टेयर है यह अभ्यारण को उत्पादन तथा अनुसंधान हेतु बनाया गया है
मयूर अभ्यारण यह झाबुआ जिले में स्थित है
कट्ठीवाड़ा यह अभ्यारण अलीराजपुर जिले में स्थित है और इसका क्षेत्रफल 90 वर्ग किलोमीटर है
खिवनी यह देवास जिले में स्थित है और इसका क्षेत्रफल 134.778 वर्ग किलोमीटर है इसमें मुख्यता तेंदुआ , चीतल , सांभर , नीलगाय , हिरण आदि पाए जाते हैं


More MP GK CLICK ON THESE LINK
                                                  


**For more information like this pleas visit our website dally and subscribe this website thank you**

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें