Important facts related to biology in Hindi PART-6 - GK Study

Breaking

Important facts related to biology in Hindi PART-6

जीव विज्ञानं से सम्बंधित महत्पूर्व तथ्य हिंदी  में NTPC , RAILWAY GROUP-D , SSC , IBPS , STATE PSC के लिए उपयोगी पार्ट-6 



1       इण्डोल ऐसीटिक अम्ल ऑक्सीन होता है।

2       एड्रिनल ग्रन्थि को आपातकालीन ग्रन्थि भी कहते है।

3       सोमैटोट्रॉफिक हार्मोन पीयूष ग्रन्थि द्वारा स्रावित होते है।

4       सटेस्टोस्टिरोन हार्मोन वृषण ग्रन्थि द्वारा स्रावित होता है।

5       एस्ट्रोजन हार्मोन डिम्ब ग्रन्थि द्वारा स्रावित होता है।


6       थायराक्सीन ग्रन्थि थायराइड ग्रन्थि द्वारा स्रावित होता है।

7       मानव भ्रूण हदय अपने परिवर्धन के चतुर्थ सप्ताह में स्पन्दन करने लगता है।

8       परखनली शिशु का परिवर्धन परखनली के अन्दर ही होता है।

9       खुजलाने से खाज मिटती है क्योंकि इससे कुछ तंत्रिकाऐं उददीप्त होती है जो मस्तिष्क को प्रतिहिस्टामिनी रसायनों का उत्पादन बढाने का निर्देश देती है।

10      मनुष्य के आँख में प्रकाश तरंगें अक्ष पटल पर स्नायु उद्वेगों में परिवर्तित होती हैं।


11      जन्तु विज्ञान में जीवित व मृत जानवरों का अध्ययन करते है।

12      दृष्टि पटल (रेटिना) पर जो चित्र बनता है वह वस्तु से छोटा व उल्टा होता है।

13      मनुष्य आर्द्रता व गर्मी में परेानी महसूस करता है। इसका कारण है कि पसीना आर्द्रता के कारण वाष्पित नही होता हैं।

14      पोलियो का टीका सबसे पहले जान साल्क ने तैयार किया था

15      अस्थियों का अध्ययन विज्ञान ऑस्टियोलोजी शाखा के अन्तर्गत किया जाता है।


16      जीन अणुओं की सरंचना को सबसे पहले डा जेम्स वाटसन और डा फ्रांसिस क्रिक द्वारा रेखांकित किया गया था।

17      मनुष्य के शरीर में पसलियों के 12 जोड़े होते हैं।

18      पोषक घोल में सूक्ष्म पादप अंशो को विकसित करना ऊतक संवर्धन कहलाता है।

19      मनुष्य के मस्तिष्क के जिस भाग में स्मृति रहती है उसे प्रमस्तिष्क प्रान्तस्था (कॉर्टेक्स) कहते हैं।

20      मानव प्रतिरक्षा हीनता विषाणु (एच0 आई0 वी0) एक जीवधारी है क्योंकि यह स्वतः प्रजनन कर सकता है।


21      विकास का सिद्धान्त चार्ल्स डार्विन द्वारा प्रतिपादित किया गया था।

22      मानवशरीर में सबसे लम्बी हड्डी ऊरू (जाँघ) की होती है।

23      जैव विकास के सन्दर्भ में साँपों में अंगों का उपयोग तथा अनुपयोग किये जाने से अंगो के लोप होने को स्पष्ट किया जाता है।

24      क्लोन अलैंगिक विधि से उत्पन्न किया जाता है।

25      श्वसन क्रिया में वायु के नाइट्रोजन घटक की मात्रा में कोई परिवर्तन नहीं होता है।


26      डायनासोर मेसोजोइक सरीसृप प्रजाति में आते थे।

27      जीव समुदाय द्वारा सौर ऊर्जा का सर्वाधिक उपयोग किया जाता है।

28      नेत्रदान में दाता की आँख का कार्निया नामक भाग उपयोग में लाया जाता है।

29      सील स्तनपायी जाति है।

30      एजोला को जैव उर्वरक के रूप में प्रयोग किया जाता है।


31      मानवशरीर में प्रेलैटिकन हार्मोन का निर्माण अण्डाशय में होता है।

32      ऐसे अंग जो विभिन्न कार्यो में उपयोग होने के कारण काी एसमान हो सकते है लेकिन उनकी मूल संरचना एवं भ्रूणीय प्रक्रिया में समानता होती है, समजात अंग कहलाते है।

33      भोजन के लिए विभिन्न जीव एक-दूसरे पर आश्रित रहते है।इस प्रकार एक शृंखला का निर्माण होता है इस शृंखला के प्रारम्भ में हरे पौधे होते हैं।

34      केंचुए के कोई नेत्र नही होता है।

35      अमीबियेसिस से आमावतसार रोग होता है।


36      हमारे शरीर की मस्तिष्क कोशिकाओं में सबसे कम पुनर्योजी शक्ति होती है।

37      हमारे छोड़ी हुयी सांस की हवा में कार्बनडाइआक्साइड की मात्रा 4 प्रतिशत होती हैै।

38      शुतुरमुर्ग आकार में सबसे बड़ा पक्षी होता है।

39      एड्स वायरस एक सूची आर0एन0ए0 होता है।

40      पात्र निषेचन और फिर गर्भाशय में प्रतिराशण करने के बाद उत्पन्न शिशु कोे 'टेस्ट ट्यूब बेबी' कहते है।


41      सर्वाधिक प्रकाश संश्लेषित क्रियाकलाप प्रकाश के नीले व लाल क्षेत्र में चलता है।

42      प्रकाश संश्लेषण के दौरान पैदा होने वाली आक्सीजन का स्त्रोत जल होता है।

43      किसी वृक्ष को अधिकतम हानि उसकी छाल का नाश करके पहुचती है ।

44      पपक्षियों में प्रायः एक ही वृषण होता है।

45      एल्फल्फा एक प्रकार की घास का नाम है।


46      वायुगुहिका की उपस्थिति जल पादप के अनुकूलन होती है।

47      प्रकाश संश्लेषण केवल दृश्य वर्णो में ही होता है । प्रकाश संश्लेषण प्रक्रिया में जल, प्रकाश, क्लोरोफिल तथा कार्बनडाइआक्साइड की उपस्थिति में कार्बोहाइड्रेट का निर्माण होता है।

48      प्रोटोजोआ वर्ग के जीव जल्दी प्रजनन करते है।

49      मरूस्थलीय क्षेत्र में उगने वाली वनस्पतियों को जीरोफाइट कहते हैं।

50      अधिक आर्द्रता वाले क्षेत्रों या दलदली क्षेत्र की वनस्पतियां हाइग्रोफाइट के अन्तर्गत आती हैं।


51      नमकीन क्षेत्र में होने वाली वनस्पतियों को हैलोफाइट कहते है।

52      पारिस्थितिकी तन्त्र की खाद्य शृंखला का सही अनुक्रम पादप-शाकाहारी-मांसाहारी-अपघटक है।

53      पौधे का पत्ती वाला भाग श्वसन करता है।

54      केला और नारियल एकबीजपत्री फल हैं।

55      सिनकोना पौधे के तने की छाल से कुनैन प्राप्त की जाती है।


56      बीज के अंकुरण में महत्वपूर्ण कारणों में प्रमुखतः हवा नमी एवं उपयुक्त ताप होते है। सूर्य का प्रकाश नही होता है।

57      यीस्ट और मशरूम फफूँद (फंजाई) होते है।

58      कीटों के वैज्ञानिक अध्ययन को एन्टोमोलॉजी कहते हैं।

59      फल विज्ञान के अध्ययन को पोमोलॉजी कहते है।

60      पुष्प विज्ञान के अध्ययन को फ्लोरीकल्चर कहते हैं।


61      सब्जी विज्ञान के अध्ययन को ओलेरीकल्चर कहते है।

62      आँख का वह भाग जिसमें वर्णांक होल होता है तथा जो किसी व्यक्ति की आँखों का रंग निश्चित करता है, उसे आइरिस भाग कहते हैं।

63      अमोनिया को नाइट्रेट में बदलने में नाइट्रोसोमोनास भूमिका निभाता है।

64      जीनोम चित्रण का सम्बन्ध जीन्स के चित्रण से है।

65      पंतगा बारूदी सुरंगो का पता लगाने में उपयोगी होते हैं।


66      एजोला नीलहरित शैवाल एवं एल्फाल्फा जैव उर्वरक के रूप प्रयोग होते है।

67      गिरगिट एक आंख से आगे की ओर तथा उसी समय दूसरी आंख से पीछे की ओर देख सकता है।

68      कृषि की वह शाखा जो पालतु पशुओं के चारे, आश्रय, स्वास्थ्य तथा प्रजनन से सम्बधित होती है उसे पशुपालन (एनीमल हस्बेन्ड्री) कहते है।

69      जेरेन्टोलॉजी वृद्ध अवस्था के अध्ययन को कहा जाता है।

70      जनसंख्या एवं मानव जाति के महत्वपूर्ण आंकड़ों के अध्ययन को जनांकिकी कहते है।


71      जलीय पौधे को हाइड्रोफाइट कहते है।

72      हरे फलों को कृत्रिम रूप से पकाने हेतु एसीटिलीन गैस का प्रयोग करते है।

73      प्रकाश संश्लेषण की क्रिया में प्रकाश ऊर्जा , रासायनिक ऊर्जा में परिवर्तित होती है ।

74      वृक्ष की आयु का वर्षों में निर्धारण उसमें उपस्थित वार्षिक वलयों की संख्या के आधार पर किया जाता है।

75      सिनकोना की छाल से प्राप्त औषधि को मलेरिया के उपचार के लिए प्रयोग किया जाता है। जिस कृत्रिम औषधि ने इस प्राकृतिक औषधि के प्रतिस्थापित किया वह क्लोरोक्विन है।


76      मृदा को नाइट्रोजन से भरपूर करने वाली फसल मटर की फसल है।

77      यदि जल का प्रदूषण वर्तमान गति से होता रहा तो अन्ततः जल पादपों के लिए ऑक्सीजन के अणु अप्राप्य हो जायेगें ।

78      घोंसला बनाने वाला एक मात्र सर्प नागराज (किंग कोबरा) है।

79      नदियों में जल प्रदूशण की माप ऑक्सीजन की घुली हुई मात्रा से की जाती है।

80      शिशु का पितृत्व स्थापित करने के लिए डीएनए फिंगर प्रिंटिग तकनीक का प्रयोग किया जा सकता हैं।


81      भारतीय किसान टर्मिनेट बीज प्रौधोगिकी के प्रवेष से असंतुष्ट हैं क्योकि इस प्रौद्योगिकी से उत्पादित बीजों से अंकुरणक्षम बीज बनाने में असमर्थ पौधों के उगने की सम्भावना होती है।

82      मछली के मांस में बहुअसंतृप्त वसा अम्ल होते है। इसलिए इसका उपभोग अन्य पशुओं के मांस की तुलना में स्वास्थ्यकर माना जाता है।

83      जीवाणु , सूक्ष्म शैवाल और कवक उद्योगों में सर्वाधिक व्यापक रूप से उपयोग में आता है।

84      प्याज की खेती पौध का प्रतिरोपण करके की जाती है।

85      ऑक्टोपस एक मृदुकवची (मोल्यूज) है।


86      इफेड्रिन एक औषधि है जिसका उपयोग अस्थमा रोग में होता है इसे जिम्नोस्पर्म से निकाला जाता है।

87      चावल की फसल के लिए नीलहरित शैवाल अच्छे जैव उर्वरक का कार्य करता है।

88      रेशम का कीडा अपने जीवन चक्र के कोशित चरण में वाणिज्यिक तन्तु पैदा करता है।

89      रक्त ग्लूकोज स्तर सामान्यतः भाग प्रति मिलियन (ppm) में व्यक्त किया जाता है।

90      लम्बे समय तक कठोर शारीरिक कार्य के पश्चात् मांसपेसियों में थकान अनुभव होने का कारण ग्लूकोज का अवक्षय होना है।


91      नीम के वृक्ष ने जैव उर्वरक , जैव किटनाशी एवं प्रजननरोधी यौगिक स्त्रोत के रूप में महत्व प्राप्त कर लिया है।

92      नियासीन (बी5), राइबोफ्लेविन(बी2), थायमीन(बी1) एवं पिरीडाक्सीन सभी विटामिन जल में विलेय है।

93      उदर के लगा हुआ मानव आंत का लघु ऊपरी भाग गृहणी (ड्यूओडिनम) कहलाता है।

94      लोहा एन्जाइम्स को सक्रिय करता है, मैग्निशियम वसा का संष्लेशण करती है, क्लोरीन प्रकाश संश्लेशण में इलेक्ट्रानों का स्थानान्तरण करती है, नाइट्रोजन प्रोटीन का संश्लेषण करती है।

95      सर्वप्रथम हार्वे ने रक्त परिसंचरण का सिद्धान्त प्रतिपादित किया था उसके बाद डार्विन का विकास सिद्धान्त प्रतिपादित हुआ था उसके बाद मेंडल का वंशागति का नियम प्रतिपादित हुआ था एवं तत्पश्चात डी ब्रीज का उत्परिवर्तन का सिद्धान्त प्रतिपादित हुआ।


96      एक वयस्क मनुष्य के प्रत्येक जबडे में 16 दाँत पाये जाते है। प्रत्येक जबड़े मे दाँतों का विन्यास - एक कैनाइन, दो प्रीमोलर, दो इन्सीजर एवं तीन मोलर होता है।

97      डार्विन का सिद्धान्त ‘आरिजिन ऑफ स्पीशीज‘ की व्याख्या का सही अनुक्रम अतिउत्पादन - विभिन्नताऐं- अस्तित्व के लिए संघर्ष - योग्यतम की उत्तरजीविता है।

98      यदि किसी द्विबीजपत्री जड को तिरछी दिशा में काटें तो उसकी आन्तरिक संरचना में बाहर से अन्दर की ओर जो भी भाग पाये जाते है, अन्दर की ओर पाये जाने वाले भाग क्रमषः इपिडर्मिस - कार्टेक्स - पेरीसाइकिल - वेस्कुल बण्डल होता है।

99      मनुष्य को विटामिन्स की जरूरत क्रमशः विटामिन के - विटामिन ई - विटामिन डी - विटामिन ए आरोही क्रम (बढ़ते हुए क्रम) में होती है

100     ऊँट का औसत जीवन काल 30 वर्ष , बिल्ली का औसत जीवन वर्ष 21 वर्ष , गाय का 16 वर्ष , घोडे का 62 वर्ष होता है।



दोस्तों यदि आप को इस जानकारी में कोई त्रुटि या कोई गलती लगे तो कृपया हमें कमेंट बॉक्स में बताएं तथा यह जानकारी  अच्छी लगे तो वेबसाइट को सब्सक्राइब   करें और अपने दोस्तों के साथ शेयर करें
**For more information like this pleas visit our website dally and subscribe this website thank you**


Important facts related to biology in Hindi PART-1 


Important facts related to biology in Hindi PART-2 

Important facts related to biology in Hindi PART-3


Important facts related to biology in Hindi PART-4


Important facts related to biology in Hindi PART-5


Important facts related to biology in Hindi PART-6


Important facts related to biology in Hindi PART-7


Important facts related to biology in Hindi PART-8

Important facts related to biology in Hindi PART-9


Important facts related to biology in Hindi PART-10


Important facts related to biology in Hindi PART-11

Important facts related to biology in Hindi PART-12

Important facts related to biology in Hindi PART-13


Important facts related to biology in Hindi PART-14

Important facts related to biology in Hindi PART-15



कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें